Breaking News

PM का तोहफा, महिलाओं के खाते में ट्रांसफर किए 4000 रुपये, जानें आपके खाते में पैसे आए या नहीं

केंद्र सरकार ने महिलाओं को एक और बड़ा तोहफा दिया है। आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सेल्फ हेल्प ग्रुप में करीब 1000 करोड़ रुपए ट्रांसफर किए। प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ने आज देश की महिलाओं को बड़ी सौगात दी है. पीएम मोदी ने आज महिलाओं के खाते में 4000 रुपए भी ट्रांसफर किए हैं। आइए आपको बताते हैं कि किन महिलाओं के खाते में पैसा ट्रांसफर किया गया है.

पीएम मोदी ने आज बिजनेस कॉरस्पॉन्डेंट सखी योजना में रजिस्टर्ड सभी महिलाओं के खाते में उऩकी पहली सैलरी ट्रांसफर की है। करीब 20000 बिजनेस कॉरेस्पॉन्डेन्ट सखी के खाते में 4000 रुपए ट्रांसफर किए हैं। सैलरी के अलावा उन्हें कमीशन में मिलेंगे। बता दें सरकार ने आज बिजनेस कॉरस्पॉन्डेंट सखी योजना में रजिस्टर्ड महिलाओं को उनका पहला मानदेय ट्रांसफर कर दिया है. इसके अलावा कन्या सुमंगल योजना के लाभार्थियों का पैसा भी उनके खाते में आ गया है.

आपको बता दें कि बिजनेस कॉरेस्पॉन्डेंट लोगों के घर घर जाकर उन्हें वित्तीय सेवायें उपलब्ध कराती है। आपको बता दें कि सरकार ने इन्हें 6 महीने के लिए 4000 रुपए मिलता है। इन बैंक सखी को नियमित सैलरी और कमीशन मिले इसके लिए सरकार उन्हें ये मानदेय देती है।पीएम मोदी ने करीब 20,000 बिजनेस कॉरेस्पॉन्डेन्ट सखी (BC Sakhi) के खाते में आज पहला मानेदय दिया है. इसमें सरकार ने 4000 रुपये ट्रांसफर किए हैं. सरकार इन लोगों को 6 महीने के लिए 4000 रुपये का मानदेय देती है. इसके अलावा इनको कमीशन का भी फायदा मिलता है.

अगर कन्या सुमंगल योजना की बात करें तो इसके लाभार्थियों को के लिए सरकार ने 20 करोड़ रुपये का फंड निकाला है. बता दें इस राशि को ट्रांसफर करने की शुरुआत हो गई है. बैंक सखी बनने के लिए महिलाओं को कम से कम 10वीं पास होना अनिवार्य है। उन्हें बैंकिंग कामों और ऑनलाइन काम की जानकारी होनी चाहिए। इस योजना में उत्तर प्रदेश की महिलाएं हिस्सा ले सकती है और बैंक सखी बन सकती है। इस सरकारी योजना से 58000 महिलाओं को रोजगार मिलेगा। इसका मकसद ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकिंग सुविधाओं को पहुंचाया जा सके।

बैंक सखी बनने के लिए 10वीं पास होना जरूरी है. इसके अलावा उनको ऑनलाइन काम करने के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए. इसके अलावा बैंकिग कामकाज के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए. इस योजना में यूपी की महिलाएं भाग ले सकती हैं. बता दें इसमें सिर्फ महिलाओं को ही नौकरी दी जाएगी. इस योजना के तहत लगभग 58000 महिलाओं को रोजगार मिलेगा. इस योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण महिलाओं को आगे बढ़ाना हैं और गांव के इलाके में बैंकिग सेवाओं का विस्तार करना है.

बैंक सखी बनने के लिए महिलाओं के पास आधार कार्ड, बैंक का पासबुक, 10वीं पास का मार्कशीट, योजना सर्टिफिकेट, इसके अलावा आवेदक की पासपोर्ट साइज फोटो और मोबाइल नंबर होना अनिवार्य है। पीएम ने आज सेल्फ हेल्प ग्रुप को आज 1000 करोड़ रुपए ट्रांसफर किए हैं। वहीं कन्या सुमंगल योजना के तहत सरकार ने बालिकाओं के किस्त ट्रांसफर किए हैं।

About admin

Check Also

अपने शरीर का पसीना बेचकर , कमाए लाखो, देखिये क्या है, एक गिलास पसीने की कीमत…

एक रिएलिटी टीवी स्टार ने पैसे कमाने के लिए एक अजीबोगरीब आईडिया अपनाया है. वह …

Leave a Reply

Your email address will not be published.