Breaking News

मां ने चलती ट्रेन से फेकाअपने मासूम बच्चे को, बाप ने कूदकर बचाई मासूम की जान

भारत में मां को भगवान से भी ऊंचा दर्जा दिया जाता है जहां एक मां अपने बच्चों की रक्षा के लिए अपनी जान की भी परवाह नहीं करती है। मां की ममता को झकझोर देने वाला एक मामला सामने आया है। उत्तर प्रदेश(Uttar Pradesh) के प्रयागराज(Prayagraj) से एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है जहां एक निर्दयी मां ने अपने ही मासूम बच्चे को चलती ट्रेन(train) से नीचे फेंक दिया। इसके बाद बच्चे के पिता ने ट्रेन से कूदकर एक साल के बच्चे की जान बचाई.

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में एक मां ही अपने बच्चे के खून की प्यासी हो गई. उसने अपने बच्चे को चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया. इसके बाद पिता ने कूदकर एक साल के बच्चे की जान बचाई. बच्चा गिरकर करीब 100 मीटर पीछे चला गया. मां की ममता को शर्मसार करने वाली और दिल दहलाने वाली यह घटना यमुनापार के छिवकी जंक्शन की है।

दरअसल प्रयागराज मंडल के छिवकी जंक्शन से गुरुवार सुबह 7:43 पर जनता एक्सप्रेस मुंबई की ओर जा रही थी जहां चुनार मिर्जापुर से कोच संख्या b2 में एक दंपति सफर कर रही थी। सफर कर रहे दंपति का नाम शिवम सिंह और उसकी पत्नी अंशु सिंह है। इस सफर में उनके साथ 1 साल का मासूम भी साथ मौजूद था।

शिवम सिंह मुंबई में गार्ड की नौकरी करता है। भारत बंद होने के बाद वह अपने गांव लौट आया था और अब वापस मुंबई जा रहा था। ट्रेन में सफर करते समय इस दंपति का 1 साल का मासूम बार-बार रो रहा था।

इसके बाद शिवम सिंह ने अपनी पत्नी से बच्चे को चुप कराने और दूध पिलाने की बात कही। महिला ने मना कर दिया,इसके बाद विवाद अधिक बढ़ गया। और महिला ने अपने 1 साल के मासूम को अचानक चलते हुए ट्रेन में से बाहर फेंक दिया।

गनीमत रहेगी ट्रेन की स्पीड ज्यादा नहीं थी। इसके बाद पिता ने फरिश्ता बनकर अपने बेटे को ट्रेन से कूदकर बचा लिया। महिला मानसिक रोगी बताई जा रही है ।बता दें कि शिवम सिंह मुंबई में सिक्योरिटी गार्ड(security guard) की नौकरी करता है. कोरोना(Corona) के वक्त वो घर आ गया था, फिर वो वापस अपने परिवार के साथ मुम्बई(Mumbai) जा रहा था।

वहीं छिवकी आरपीएफ इंस्पेक्टर जीएस उपाध्याय(JS upadhyay) ने बताया कि पारिवारिक मामला होने के कारण जीआरपी और आरपीएफ ने कोई मामला दर्ज नहीं किया है, लेकिन बच्चा खतरे से बाहर है. लोगों के मुताबिक, महिला की दिमागी हालत ठीक नहीं थी.

इस घटना के बाद पिता अपने बच्चे को लेकर घर चला आया है. वहीं मां की इस हरकत से हर कोई हैरान है। कि कोई मां कैसे अपने जान के टुकड़े को ऐसे चलती ट्रेन से फेंक सकती है। हालांकि, महिला की मानसिक हालत ठीक नहीं बताई जा रही है.

About admin

Check Also

अपने शरीर का पसीना बेचकर , कमाए लाखो, देखिये क्या है, एक गिलास पसीने की कीमत…

एक रिएलिटी टीवी स्टार ने पैसे कमाने के लिए एक अजीबोगरीब आईडिया अपनाया है. वह …

Leave a Reply

Your email address will not be published.