Breaking News

पढ़ाई के लिए मां ने डांटा तो छोड़ दिया घर, सालों बाद करोड़पति बनकर लौटा बेटा

सभी माता-पिता अपने बच्चों को अच्छे संस्कार देने की कोशिश करते हैं जिससे कि उनके बच्चे बड़े होकर सभ्य व अच्छे इंसान बने । हर किसी ने बचपन में पढ़ाई को लेकर अपने मां बाप से डांट जरूर खाई होगी। मां-बाप हमेशा ही चाहते हैं कि हमारे बच्चे पढ़ लिखकर बड़े इंसान बने। इसी वजह से माता-पिता अपने बच्चों को कभी-कभी डांट भी लगा देते हैं और पिटाई भी लगाया करते हैं । लेकिन कुछ बच्चे बहुत शरारती होते हैं तथा गुस्सा भी करते हैं । तथा माता-पिता के सामने अपशब्द भी बोलने लग जाते हैं ।

माता पिता के पास उनकी पिटाई करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचता । वे सुधर जाएं और अच्छी संगत का अनुसरण करें ऐसी हर माता-पिता की इच्छा होती है । एक ऐसा ही किस्सा हम आपको सुनाने जा रहे हैं जिसमें मां के डांटने से बच्चा घर छोड़कर चला गया। लेकिन हैरान तो तब भी रह गए सब जब वह बच्चा सालों बाद नौजवान और आर्थिक रूप से काफी मजबूत होकर लौटा। ऐसा तो केवल फिल्मों में ही देखा जा सकता है लेकिन वास्तविक जीवन में यह घटना काफी रोचक है।

कभी-कभी बच्चे घरवालों की डांट फटकार से गुस्सा होकर कुछ ऐसे कदम उठा लेते हैं जिससे माता पिता को शर्मिंदा होना पड़ता है और समाज में घृणा का शिकार होना पड़ता है । कई बार बच्चे घरवालों की बातों को अनसुना करके अपनी संगत के बच्चों की बुराइयों को ग्रहण कर लेते हैं । और अच्छी आदतों को छोड़कर गलत आदते अपना लेते हैं । आगे चलकर बच्चे अपने संस्कारों को भूल जाते हैं तथा गलत आदतों का शिकार हो जाते हैं और कुछ गलत और निंदनीय कार्य करने को उत्सुक हो जाते हैं ।

जानकारी के लिए आपको बताना चाहेंगे कि हरदोई का रहने वाला रिंकू उर्फ गुरप्रीत सिंह जब 12 साल का था तो वह अपने पिता की डांट सुनकर साल 2007 में उसने घर छोड़ दिया था। लेकिन हैरान कर देने वाली बात यह थी कि जब है सालों बाद घर लौटा तो हटा कटा सरदार बनकर लौटा और आर्थिक तौर पर भी काफी मजबूत दिखाई दे रहा था उनके माता पिता ने कभी नहीं सोचा होगा कि उनका बेटा इतनी तरक्की कर लेगा।

वर्ष 2007 की बात है जब घर वालों की डांट से परेशान होकर गुरप्रीत ने अपना घर छोड़ दिया था । और बिना बताए किसी दूसरी जगह चला गया था । और घरवालों से संपर्क खत्म कर लिया था तब घर वालों ने और समाज के लोगों ने सोचा कि वह बिगड़ जाएगा और कुछ गलत आदतों का शिकार हो जाएगा । ऐसा कुछ नहीं हुआ और गुरप्रीत ने घर छोड़ने के बाद गंदी आदतों को नहीं अपनाया और कुछ अच्छा कार्य करने की बात सोची और उसने कुछ ऐसा कर दिखाया जिससे उसके घर वालों और समाज ने उसकी तारीफ की ।

लेकिन हैरान कर देने वाली बात यह थी कि जब है सालों बाद घर लौटा तो हटा कटा सरदार बनकर लौटा और आर्थिक तौर पर भी काफी मजबूत दिखाई दे रहा था उनके माता पिता ने कभी नहीं सोचा होगा कि उनका बेटा इतनी तरक्की कर लेगा। जब गुरप्रीत सिंह ने घर छोड़ा था तो उसके माता-पिता ने उसे ढूंढने की बहुत कोशिश की थी वह सिर्फ एक कपड़े की जोड़ी पहन कर घर से निकल चुका था। उसके माता-पिता उसके लिए काफी परेशान हो गए थे लेकिन वह कभी नहीं मिला। पाखी कर माता-पिता की हिम्मत टूट गई लेकिन 14 साल तक उनके लिए अपने बेटे के बिना एक-एक पल गुजारना बड़ा मुश्किल हो रहा था।

कहा जाता है कि रिंकू जब 12 साल का था तब उसने घर छोड़ दिया था वह लुधियाना की ट्रेन में बैठ कर लुधियाना चला गया था। लुधियाना में उसे एक सरदार ने अपने घर में शरण दी और अपनी ट्रांसपोर्ट कंपनी में काम भी दिया। धीरे-धीरे रिंकू वहां पर ट्रक चलाना सीख गया और आज उसके पास खुद के दो तीन ट्रक हैं। 14 साल पहले जब उसने अपना गांव छोड़ा था तब उसके पास कुछ नहीं था लेकिन लुधियाना पहुंचकर वह भारत नगर चौक पर ट्रांसपोर्ट कंपनी में काम करने लगा काम करते-करते ही उसने ट्रक से चलाना भी सीख लिया था।

जानकारी के अनुसार रिंकू के ट्रक का एक्सीडेंट हो गया था जिसे छुड़वाने के लिए वह हरदोई जा रहा था लेकिन हरदोई में उसे अपने परिवार की याद आ गई। तब है अपने परिवार से मिलने के लिए अपनी लग्जरी गाड़ी में घर पहुंचा। रिंकू को इतना अमीर देखकर हर कोई हैरान था उसके माता-पिता की तो खुशी का ठिकाना भी नहीं रहा।

About admin

Check Also

लड़की ने खरीदी स्कूटी, पर RTO से ऐसा नंबर मिला कि Scooty चलाना हुआ मुश्किल

सोशल मीडिया पर आए दिन कुछ न कुछ नया देखने को मिलता है हर दिन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *