Breaking News

बड़ी खबर: तेज़ी से फेल रहा है को’रोना के बाद आ गया मंकीपॉक्स, जाने कैसे करे बचाव..

अफ्रीका तक सीमित वायर जनित बीमा मंकीपॉक्स अब यूरोप मे कह बरपा रही है और स्पेन ने जहां बृहस्पतिवार को सात मामलों की पुष्टि की वहीं पुर्तगाल में इन मामलों की संख्या बढ़कर 14 हो गई। स्वास्थ्य विभाग ने इसकी जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि स्पेन में अब तक जितने भी मामले सामने आए हैं, वे सब राजधानी मेड्रिड से हैं और सभी संक्र पुरूष हैं। क्षेत्रीय स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी एंटोनियो जापातेरो ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी फिलहाल 22 नमूनों की जांच कर रहे हैं। जापातेरो ने स्पेन के रेडियो ओंडा केरो से बातचीत में कहा, ‘‘इस बात की संभावना है कि आने वाले दिनों में मामले बढ़ेंगे ।”

ब्रिटेन के बाद मंकी पॉक्स वायर अब अमेरिका में भी पैर पसार रहा है। कनाडा से मेसाचुसेट्स लौटे एक शख्स में बुधवार को इसके संक्र की पुष्टि हुई है। यह अमेरिका में इस साल मंकी पॉक्स का पहला के है। गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों में ब्रिटेन, स्पेन, पुर्तगाल और कनाडा में भी इस दुर्लभ बीमा के दर्जनों मामले सामने आ चुके हैं।

मंकी पॉक्स बीमा एक ऐसे वायर के कारण होती है, जो स्मॉल पॉक्स यानी चेचक के वायर के परिवार का ही सदस्य है। मंकी पॉक्स 1958 में पहली बार एक बंदर में पाया गया था, जिसके बाद 1970 में यह 10 अफ्रीकी देशों में फैल गया था। 2003 में पहली बार अमेरिका में इसके मामले सामने आए थे। 2017 में नाइजीरिया में मंकी पॉक्स का सबसे बड़ा आउटब्रेक हुआ था, जिसके 75% मरी पुरुष थे। ब्रिटेन में इसके मामले पहली बार 2018 में सामने आए थे।

एक्सपर्ट्स के अनुसार, यह बीमा दुर्लभ जरूर है, लेकिन गंभी भी साबित हो सकती है। फिलहाल मंकी पॉक्स ज्यादातर मध्य और पश्चिम अफ्रीकी देशों के कुछ इलाकों में पाया जाता है। 6 मई को ब्रिटेन में मिला पहला मरीज नाइजीरिया से ही लौटा था।

एक्सपर्ट्स का मानना है कि मंकी पॉक्स संक्र व्यक्ति के करीब जाने से फैलता है। यह वाय मरी के घाव से निकलकर आंख, नाक और मुंह के जरिए शरीर में प्रवेश करता है। यह संक्र बंदर, कुत्ते और गिलहरी जैसे जानवरों या मरी के संपर्क में आए बिस्तर और कपड़ों से भी फैल सकता है। मरीज 7 से 21 दिन तक मंकी पॉक्स से जूझ सकता है।

UKHSA के मुताबिक, मंकी पॉक्स के शुरुआती लक्षण फ्लू जैसे होते हैं। इनमें बुखार, सिर दर्द, मांसपेशियों में दर्द, कमर दर्द, कंपकंपी छूटना, थकान और सूजी हुई लिम्फ नोड्स शामिल हैं। इसके बाद चेहरे पर एक तरह के दाने उभरने लगते हैं, जो शरीर के दूसरे हिस्सों में भी फैल सकते हैं। संक्रमण के दौरान यह दाने कई बदलावों से गुजरते हैं और आखिर में चेचक की तरह ही पपड़ी बनकर गिर जाते हैं।

About admin

Check Also

लड़की होने के बावजूद फाल्गुनी पाठक हमेशा पैंट-शर्ट में ही क्यों पहनती है, वजह जान करेंगे तारीफ…

गरबा क्वीन के नाम से मशहूर गायिका ‘फाल्गुनी पाठक’ नें अपने सिंगिंग करियर में कई …

Leave a Reply

Your email address will not be published.